Netflix का एजेंडा परोसने में मास्टर है।

लंदन में एक बेहद ईमानदार पुलिस ऑफिसर शहारा हसन को लॉंगहार्विस्ट लेन में एक नंगी बॉडी मिली है। कैसे मिली है? जी ऐसे मिली है कि व्हाइट पीपल की एक रैली में सार्जेंट हसन को गन के साथ एक एशियाई लड़का दिखता है, वो उस लड़के का पीछा करती है, लड़का उसे रास्ते में गन से पीटकर गिरा देता है और गन पॉइंट करके कहता है ‘I didn’t do it’, लड़का यहाँ रुका है वहीं नंगे आदमी की लाश पड़ी है।

ये 2023 का लंदन है, अब इसके ठीक बाद 1941 का लंदन आता है। वहाँ एक कड़क जवान करप्ट अफसर चार्ली व्हाइटमैन को भी लॉंगहार्विस्ट लेन से एक नंगे आदमी की लाश गायब करने का कान्ट्रैक्ट मिलता है।

इसके बाद कहानी 1890 के लंदन पर जाती है, यहाँ घोड़ा गाड़ी के ज़माने में एक अति-खुफिया सा दिखता इन्स्पेक्टर है; हीलिंगहेड, उ सेम लेन पर सेम आदमी की बिना कपड़ों की लाश खोज निकालता है।

लाश की आँख में गोली लगी है, गोली कहीं से बाहर नहीं निकली, पर दिमाग के अंदर भी गोली नहीं है। तो गोली गई कहाँ?

अब हम चलते हैं 2053 में, यहाँ दुनिया बदल चुकी है। सब अड्वान्स है, सब सुपर हाइटेक है। यहाँ एक छुटकी सी पुलिस सार्जेंट मैपलवुड को लॉंगहार्विस्ट लेन में सेम नंगी बॉडी मिलती है, जिसकी आँख में छेद है। मगर कमाल की बात ये है कि ये वाली बॉडी ज़िंदा है।

Movierulz (1)

मतलब चार डिफेरेंट टाइम-लाइन, चार डिफेरेंट पुलिस ऑफिसर्स, चारों को एक ही आदमी की बॉडी मिली है। 4 में से 3 के पास उसकी कोई आइडेंटिटी नहीं है।

यहाँ तक की कहानी में आपको बढ़िया मज़ा आया होगा। आगे क्या हुआ ये देखने का मन भी करने लगा होगा। netflix पर 8 एपिसोड की ये लिमिटेड सीरीज़ bodies नाम से स्ट्रीम हो रही है।

इस सीरीज़ का सस्पेंस तो मैं आपको नहीं बताऊँगा पर ये ज़रूर बताऊँगा कि इसका पहला दूसरा और तीसरा एपिसोड बहुत तगड़ी मिस्ट्री बनाता है। चौथा और पाँचवा एपिसोड आपको सोचने पर मजबूर कर देता है और छठा एपिसोड हर राज़ से पर्दा उठा देता है। उसके बाद, आखिर दो एपिसोड्स में क्यों क्या कैसे हुआ होगा ये तो दिखाते ही हैं, साथ ही यूँ ये ऐसे न होता तो.. भी देखने को मिलता है।

इस बीच जो अजेंडा चमचमा के निकलता है वो कुछ यूँ है कि – 1890 का ऑफिसर समलैंगिक है। हालाँकि शादीशुदा है, पर एक ईमानदार समलैंगिक पत्रकार पर इसी केस के बाद उसका ऐसा दिल आ जाता है कि बिचारा दुनिया जहान सबसे लड़ जाता है। इनके चुम्मी-पुच्ची के सीन इतनी डीटेल में दिखाए गए हैं जितने हेटरोसेक्सुअल के इंटीमेट सीन netflix नहीं दिखाता।

1941 का पुलिस वाला बिचारा यहूदी है, उसको हिटलर से लेकर लंदन के नेटिव लोग भी प्रताड़ित कर रहे हैं, इसलिए वो मजबूरन करप्ट हुआ है।

2023 की पुलिस वाली लंदन की मुसलिम महिला, सिंगल मदर, बड़े दिल वाली, एक भटके हुए पहले मूसलिम और फिर ब्रिटिश बच्चे को धमाका करने से रोकना चाहती है।

कोटा शहर और दिल्ली का मुखर्जी नगर, ये दो ऐसी खतरनाक जगह

2053 की कहानी ज़्यादा खास है। यहाँ कि 4 फुट की पुलिस वाली क्रिपल है, पर इसने सरकार से समझौता कर एक आर्टफिशल स्पाइन लगवा ली है। इनशॉर्ट उधार की रीढ़ ले ली है, लेकिन ये भी अंत में अपनी खुद की बैकबोन के भरोसे लड़ने निकलती है।

इन्टरिस्टिंग बात ये है कि पूरी सीरीज़ में कहीं भी किसी मजहब का नाम नहीं लिया गया है। हाँ समलैंगिकता को स्पेशल अन्डर्लाइन ज़रूर किया है पर ऐसे कि “कोई बात नहीं तुमने अपनी फैमिली को चीट किया तो, तुम बस ग़लत समय में हो, तुम्हारा मेन-टू-मेन प्यार ग़लत नहीं है”

अजेंडागिरी की इंतहाँ ये है कि सीरीज में कोई भी ग़लत नहीं है। यूँ समझो कि thanos का हृदय परिवर्तन कर दिया गया है, अब वो सारे कुकर्म वापस लौटा रहा है। इसपर सुकून मिलता कि लिमिटेड सीरीज़ है भई खत्म हुई। लेकिन अंत में फिर एक पूँछ दे दी है जिसका कोई गाढ़ा लॉजिक नहीं, मेकर्स का बस इतना कहना है कि अगर मौका मिला तो इसी के आगे कहानी बुन लेंगे और इसका एक सीजन 2 ले आएंगे।

क्या आपको भी आज कल की सीरीज़ में वो हिडन अजेंडा दिखता है जिसे बताया नहीं जाता पर जताया जाता है?

0Shares

Leave a Comment

0Shares