आज एक एक ‘नगीने’ याद आ रहे हैं!

एक इंग्लिश टीचर थीं, उनकी इंग्लिश फ़न्ने खां थी। पर वो इंग्लिश से ज़्यादा बच्चों में अपनी अदाओं के लिए फेमस थीं। बाद में “मैं हूँ न” देखी तो पता चला कि वो सुष्मिता से इन्स्पाइअर्ड होकर साड़ी पहनती हैं।

मेरा एक मित्र तो उनकी बस का पीछाकर उनका घर भी देख आया था।

वो जब क्लास में घुसती थीं तो बाकी लड़के आहें भरते थे। बाकी ही, क्योंकि मुझे उनके घुसते ही उनका नादिरशाही फरमान याद आ जाता था कि “Nobody will talk in Hindi in my class. You either speak English, or get out of my class”

उनका ये ब्रितानी फॉर्मूला अच्छे से काम करता था क्योंकि 95% क्लास शांत बैठ जाती थी।

एक रोज़ उनका पीरीअड तो लगा पर वो 5 मिनट तक नहीं आईं तो हमने सहज ही सोच लिया कि वो छुट्टी पर हैं!

हालाँकि मेरे उसी पीछाकरू दोस्त ने चेताया कि “नहीं बे, असेंबली में तो दिखी थी”

पर मैंने उसकी चेतावनी सुनने की बजाए रबरबैंड पर कागज़ की गोली बना, इधर-उधर फ़ाइरिंग करना ज़्यादा ज़रूरी समझा।

एक लड़की के माथे पर सटीक निशाना लगा, जबतक वो भकभकाती, तबतक अर्जुन की भांति मैंने मछली की बजाए मनीष की आँख पर गोला मार दिया। वो बिचारा आँख मसल ही रहा था कि ABCD क्लास में गई।

क्लास मॉनिटर साइलन्टली काले बोर्ड पर शरारत करने वालों के नाम लिख रही थी, भला हो शरारत नहीं लिख रही थी! अब इन नामों में सबसे ऊपर भविष्य का फेसबुकिया राइटर विराजमान था।

Movierulz (1)

हम टोटल 8 लड़के लड़कियाँ थे जिन्हें हाथ ऊपर करके खड़े रहने की सज़ा मिली। ये सज़ा तभी माफ हो सकती थी कि जब हम अंग्रेज़ी में अपनी सफाई देते!

बड़ी विकट स्थिति थी!

अगले 10 मिनट तक मैं मन-मन में एक ही सेंटेन्स दोहराता रहा! जब लगा कि शायद ये सही है, तब बोला “इक्स्क्यूज़ मी मैम” उन्होंने भवें उचकाईं!

“आई वाज़ जस्ट प्लेइंग, नथिंग एल्स”

वो प्राउडली मुसकुराती बोली “ओके सिट डाउन”

तब तो मैं खुश हो गया!

पर आज सोचता हूँ कि वो कितनी बौड़म थीं! आई वाज़ जस्ट प्लेइंग?

एक गरीब की आँख सुजा दी थी मैंने!

वो बिचारा अंग्रेज़ी में बता भी नहीं पा रहा था कि उसके साथ हुआ क्या है! इसलिए चुप्प बैठा टाई के एक कोने पर मुँह से भाप मारकर पूरे पीरीअड में आँख पर लगाता रहा था।

अगर किसी अन्य यूनवर्स में मैं इसी टीचर से कहता कि “मैम आई वाज़ जस्ट स्टैबिंग हिम, नथिंग एल्स! आई स्लिट हिज़ थ्रोट विद अ शार्प किचन नाइफ! आई एम सॉरी, आई वोन्ट डू दैट अगैन” तो क्या ये इसी बात पर खुश न हो जाती कि भले ही मर्डर करके आया हो, पर कम से कम अंग्रेज़ी तो बोल लेता है!

0Shares

Leave a Comment

0Shares