स्वतंत्रता वीर सावरकर फिल्म ने वीक डे मंगलवार तक 10 करोड़ कमा गई

स्वतंत्रता वीर सावरकर: कुछ मित्रगणों का प्रश्न है कि करीना कपूर, तब्बू और कृति की फिल्म क्रू बॉक्स ऑफिस कैसे चल गई। फिल्म के निर्माता बालाजी टेलीफिल्म्स यानी एकता कपूर और शोभा कपूर है, तो वही डिस्ट्रीब्यूशन पेन मरुधर है। इसलिए महिला प्रधान फिल्म को अच्छी रिलीज मिली है पैन भारत 2500 स्क्रीन काउंट है। तिस पर मल्टीप्लेक्स में बढ़िया शो काउंट रखे गये है और प्राइम टाइमिंग भी है।

सबकुछ अच्छा मैनेज है फिर भी फिल्म 10 करोड़ से ऊपर न कमाए तो लानत है। खैर स्वतंत्रता वीर सावरकर को जितने ओड शो टाइमिंग दी जा सकती थी, दी गई। दूसरे वीकेंड में ज्यादा ओड टाइम कर दिया है। दर्शक फ़िल्म देखना चाहते है लेकिन टाइम भी मैच करें। कमर्शियल फिल्में हमेशा पीआर की देखरेख में चलती है। आजकल डिस्ट्रीब्यूटरस ही ऐसे पैकेज दे रहे है निर्माताओं को ज्यादा मेहनत करने की आवश्यकता नहीं है।

स्वतंत्रता वीर सावरकर

उदाहरण! फाइटर के बजट में 250 करोड़ है। बॉक्स ऑफिस पर पैन भारत से 212 और ओवरसीज 104 करोड़ है। वाइकॉम-18 ने फिल्म को 4 हज़ार प्लस भारत और 1000 ओवरसीज स्क्रीन काउंट दी। फिल्म अच्छी होती है न, तो कमर्शियल और क्रिटिकली दोनों स्तर पर धाँसू होती है लेकिन फाइटर को बॉक्स ऑफिस पर टिकाये रखा ताकि ओटीटी पर अच्छी डील मिल जाये। नेटफ्लिक्स ने फ़िल्म को 150 करोड़ की डील दे डाली। सिद्धार्थ आनंद की पठान और फाइटर पूर्णतया पीआर से उठी फिल्में है।

स्वतंत्रता वीर सावरकर
स्वतंत्रता वीर सावरकर

फिल्म अच्छी हो और कमाई ठीक न करें तो उसके पीछे रीजन देखने चाहिए। सिस्टम वालों ने कमोबेश ऐसी ही स्थिति द कश्मीर फ़ाइल्स में की थी लेकिन सिस्टम ही क्रैश हो चला था। निर्माता के प्रमोशन और एक्सट्रीमली पॉजिटिव वर्ड ऑफ माउथ ने दावँ उल्टा कर दिया। रणदीप हूड़ा फिल्म मेकिंग में अनाड़ी रहे, उन्हें फिल्म रिलीज की नॉलेज न थी तभी तो सावरकर को ठीक रिलीज न दे पाये। इतना तय है फिल्म बड़ी सफलता की ओर है। क्योंकि फ़िल्म अभी दूसरे वीकेंड में है और ओटीटी ऑप्शन बाकी है। बल्कि कई प्लेटफार्म है बारी बारी से रिलीज होगी।

स्वतंत्रता वीर सावरकर

स्वतंत्रता वीर सावरकर! फिल्म ने वीक डे में जिस प्रकार होल्ड दिखलाई है, मंगलवार तक 10 करोड़ कमा गई। अभी वीक में दो दिन बाकी है इसके बाद दूसरे वीकेंड में जाएगी। फिल्म में बजट में 15 करोड़ लिखा है। आखिरी बॉक्स ऑफिस रन तक लाइफ टाइम 25-30 करोड़ हो जाएगी। इसका वर्ड ऑफ माउथ भेरी स्ट्रॉंग पॉजिटिव है। साथ ही ओटीटी पर बढ़िया डील मिलेगी। रणदीप हूड़ा को सावरकर ने नया इंट्रो दिया है। लेखक-निर्देशक- रणदीप हूड़ा।

अगर आपने हैरी पॉटर के साथ हॉग्वर्ट्स स्कूल ऑफ़ विचक्राफ़्ट एंड विजार्ड्री में एडमिशन लिया हो और

कोविड एरा में सर्वाइवल जेनर में टीवी सीरीज आई थी न

Bastar The Naxal Story: फिल्म मेकर्स ऑफ द केरल स्टोरी टीम वापस लौट आई!

Swatantra Veer Savarkar: स्वतंत्रता की लड़ाई को खास परिवार में सिमट दिया

नेटफ्लिक्स की नई पेशकश ‘Maamla Legal Hai’ में रवि को देखिए

Shaitan Movie: पिछले एक दशक में अजय तीसरी बार अपनी बेटी को बचाने निकले है

अब आगे अपने मनमुताबिक कंटेंट कर सकेंगे, किसी पर निर्भर नहीं रहना होगा। किरदारों के अच्छी रिसर्च होगी। बॉलीवुड सिस्टम से अवश्य पंगा लिया है और मंथरा वर्ग भी खासा परेशान है। छोटे बजट में रणदीप हूड़ा को कोई दिक्कत नहीं होगी। बेस्ट फॉरेन लैंग्वेज में फ़िल्म ऑस्कर को भेजी जा सकती है, अन्य तकनीकी केटेगरी पर बहस हो सकती है कंटेंट वाइज तो कनेक्ट कर लेगी। मुझे हॉलीवुड फ़िल्म 12 ईयर अ स्लेव के टक्कर का कंटेंट लगता है बस ऑस्कर में आपकी लॉबिंग कितनी तगड़ी है फर्क इसी से पड़ता है। देखना होगा कि भारत सरकार इसे आधिकारिक प्रवेश देगी।

Leave a Comment