क्या बाहरी कलाकार सिद्धांत चतुर्वेदी का करियर खत्म हो जाएगा?

दरअसल, युवा अभिनेता ने धर्मा प्रोडक्शन यानी करण जौहर की बिग स्केल और हेवी वीएफ़एक्स फिल्म ‘ब्रह्मास्त्र’ को ना कह दिया था। बल्कि तीन फिल्मों के कॉंट्रैक्ट को भी इग्नोर मार दिया। जबकि बॉलीवुड में हीरो-हीरोइन धर्मा के साथ काम करने के लिए तरसते है। कास्टिंग डायरेक्टर ने अधूरी स्क्रिप्ट व विथ आउट ऑडिशन के ब्रह्मास्त्र में किरदार ऑफर किया था लेकिन सिद्धांत ने मना कर दिया। उनका कहना था कि अमिताभ, रणबीर और आलिया के बीच मुझे कौन देखेगा। इस पूरे प्रकरण से कास्टिंग डायरेक्टर और एक्टर में झगड़ा हो चला।

ओटीटी सीरीज और पाँच फिल्मों के करियर में सिद्धांत को एक्सेल एंटरटेनमेंट अर्थात् फरहान अख्तर और रितेश ने 5 कंटेंट दिये है और एक यशराज से मिला है। इनसाइड ऐज, गुल्ली बॉय, गहराइयाँ, फ़ोनबूथ, खो गए हम कहाँ। बंटी और बबली यशराज से मिली है। बॉलीवुड में कलाकार कैम्प जॉइन कर लें तो सीमित हो जाते है और इग्नोर कर दें तो खत्म। ऐसे में इन्हें डिप्रेशन अपने साथ ले जाता है। सुशांत सिंह राजपूत शेखर कपूर की मेगा प्रोजेक्ट ‘पानी’ में इतने व्यस्त थे कि दूसरे सभी कंटेंट डाउन कर दिये थे। उधर, धर्मा में ड्राइव कर रहे थे लगातार उसकी रिलीज डेट टाली जा रही थी। ऐसे संकेत करियर को झटका था, तिस पर करण ने ड्राइव को नजदीकी सिनेमाघरों में रिलीज देने से साफ इनकार कर दिया और ओटीटी नेटफ्लिक्स पर रिलीज कर दी।

Movierulz Wap

उन दिनों बड़े ऐक्टर्स ओटीटी की ज्यादा महत्व नहीं देते थे। सुशांत अपने आप को भविष्य का बड़ा सितारा मानते थे और उनकी प्रतिभा भी साक्षी थी। पानी में अच्छी मेहनत के बाद आदित्य ने हाथ खींच लिए, इससे सुशांत को जोरदार धक्का लगा। सिद्धांत का करियर बेहद सीमित हो चला है। फरहान और जोया जो भी कंटेंट लाते है उसमें सिद्धांत को मौका देते है लेकिन अन्य कंटेंट में सिद्धांत दिखाई नहीं दिये है।

एक्टिंग स्किल्स अच्छी है लेकिन सोलो स्तर पर सिद्धांत ने कॉर्पोरेट जगत की निगाह में बॉक्स ऑफिस नहीं जीता है तो सोलो कंटेंट बहुत दूर है। 7-8 साल के करियर में कुछ भी हासिल नहीं किया है सिवाय वॉइस ऑफ़ नॉइज़ का साथ, ये भी सपोर्टिंग है। आने वाले दिनों में एक्टर बनना है तो स्वयं पैसा लगाओ। विद्युत जामवाल उम्दा एक्शन कलाकार है लेकिन उन्हें कंटेंट नहीं मिल रहे है। खुद फ़िल्म प्रोड्यूस करके अंदर के कलाकार को जिंदा रखे है और कोशिश में है कि कोई तो बढ़िया रेंज का किरदार और उसकी कहानी साँचे में बैठ जायें तो बेस्ट एक्शन फिल्म बनेगी।

किलियन मर्फी से क्रिस्टोफर नोलन पूछते है कि ‘जे रॉबर्ट ओपनहाइमर के बारे में कितना जानते है

बड़े बड़े प्रोडक्शन हाउस एक्शन फ़िल्म बनाते है तो टाइगर श्रॉफ को डिमांड करते है। लेकिन विद्युत जामवाल को कतई नहीं, ऐसा इसलिए है आप किन किन कैम्प में हाजिरी देते है और आपके पीछे बैकग्राउंड क्या है। देखना दिलचस्प होगा कि सिद्धांत ने एक्सेल में इतने साल बिता दिए अब डॉन-3 रीबूट में कोई दमदार किरदार हाथ लगेगा या यूँ ही बैठें रहेंगे। रणवीर सिंह को गुल्ली बॉय में अच्छी टक्कर दे चुके है।

Leave a Comment